चंपारण में पर्यटन क्षेत्र में विकास की असीम संभावनाएं : जिलाधिकारी।

0
397

बेतिया। जिलाधिकारी, श्री दिनेश कुमार राय द्वारा आज भितिहरवा गाँधी आश्रम, सोफा मंदिर, सहोदरा माता मंदिर का भ्रमण कर पर्यटन की संभावनाओं का जायजा लिया गया।भितिहरवा गाँधी आश्रम भ्रमण के क्रम में जिलाधिकारी ने कहा कि पश्चिम चंपारण की भूमि महात्मा गांधी की कर्मभूमि है। महात्मा गांधी द्वारा चंपारण सत्याग्रह की नींव चंपारण की पावन धरती में ही डाली थी। गौनाहा प्रखंड में अपने आवास के दौरान महात्मा गांधी भितिहरवा में रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार के द्वारा भितिहरवा आश्रम के सौंदर्यीकरण का कार्य कराया गया है। साथ ही आश्रम के ही समीप थीमेटिक पार्क का भी निर्माण कार्य कराया गया है। जिलाधिकारी द्वारा निरीक्षण के दौरान पाई गई खामियों का निराकरण करने का निर्देश संबंधित अभियंता और एजेंसी को दिया गया। उन्होंने कहा कि पर्यटकों की सुविधा को देखते हुए और भी कई सारी सुविधाएं दिया जाना आवश्यक है, इसका विधिवत प्रस्ताव तैयार कर उपलब्ध करायी जाय ताकि पर्यटकों हेतु अन्य सुविधाओं का विस्तार किया जा सके।


इसके उपरांत जिलाधिकारी द्वारा ऐतिहासिक सोफा मंदिर और सुभद्रा माता मंदिर का भी भ्रमण किया गया और पूजा-अर्चना की गई। सोफा मंदिर के निरीक्षण के दौरान उपस्थित ग्रामीणों से फीडबैक लिया गया। ग्रामीणों ने बताया कि पंडई नदी के कारण सोफा मंदिर के आस पास काफी कटाव होता था, लेकिन राज्य सरकार के द्वारा कराए कटाव निरोधी कार्य से अब कटाव नहीं हो रहा है। ग्रामीणों के द्वारा मंदिर के आस-पास सौंदर्यीकरण कराने की ओर ध्यान आकृष्ट कराया गया। जिलाधिकारी ने प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी और भूमि सुधार उप समाहर्ता, नरकटियागंज को इस दिशा में संभावनाओं को तलाशते हुए प्रस्ताव उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया।जिलाधिकारी ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री, बिहार के द्वारा सोफा मंदिर का कई बार दौरा किया गया है और उनके द्वारा ही इस मंदिर को नदी के कटाव से बचाने का कृत संकल्प लिया गया था, जिसके प्रतिफल आज सबके सामने है। जिलाधिकारी ने प्रभारी पदाधिकारी, थरुहट विकास को भी संभावनाएं तलाशते हुए कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया। ग्रामीणों के द्वारा पेयजल की समस्या बतलाई गयी। जिलाधिकारी द्वारा कार्यपालक अभियंता, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण प्रमंडल से इसका सर्वेक्षण कराने का आश्वासन दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि जो भी संभव होगा सरकार का ध्यान आकृष्ट कराते हुए कराया जाएगा।


सुभद्रा माता मंदिर के भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी को प्रभारी पदाधिकारी, पर्यटन विभाग द्वारा बताया गया कि विवाह भवन-सह-गेस्ट हाउस का निर्माण पर्यटन विभाग के द्वारा कराया जाना प्रस्तावित है। इसके लिए भूमि चिन्हित करके प्रस्ताव भेजा जाना है। जिलाधिकारी द्वारा अंचल अधिकारी, गौनाहा और भूमि सुधार उप समाहर्ता, नरकटियागंज को त्वरित गति से भूमि को चिन्हित कराते हुए भूमि का प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया गया।ग्रामीणों के द्वारा, बगल से गुजर रहे इंडो-नेपाल बॉर्डर रोड की तरफ ध्यान आकृष्ट कराते हुए, उसे मंदिर के संपर्कता प्रदान करने का अनुरोध किया गया। जिलाधिकारी द्वारा सम्बंधित विभाग से वर्तालाप करके कार्य कराने का आश्वासन दिया गया।इस अवसर पर उप विकास आयुक्त, श्री अनिल कुमार, जिला स्थापना उप समाहर्त्ता, श्री अनिल कुमार, विशेष कार्य पदाधिकारी, श्री सुजीत कुमार, प्रभारी पदाधिकारी, पर्यटन शाखा, श्री राजकुमार सिन्हा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here