त्रिदिवसीय श्री हनुमान प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव को लेकर निकाली भव्य कलश यात्रा, 501 कुंवारी कन्याओं ने अमवामन झील में भरा जल।

0
805

मझौलिया से राजू शर्मा की रिपोर्ट…

बेतिया/मझौलिया। मझौलिया प्रखंड अंतर्गत सेनुवरिया पंचायत के वार्ड नम्बर 11में त्रिदिवसीय श्री
हनुमान प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव को लेकर भव्य कलश यात्रा
निकाली गई। जिसमें गाजे बाजे घोड़ा सहित सैकड़ों श्रद्धालु भक्त शामिल हुए। कलश यात्रा मंदिर परिसर से शुरू होकर दुबौलिया गांव सेनुवरिया चौक होते हुए अमवामन झील पहुंचा जहां 501 कुंवारी कन्याओं ने काशी धाम से आए यज्ञाचार्य जनक शास्त्री द्वारा वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच कलश में जल भरा और यज्ञ स्थल तक लाया। जल शोभायात्रा में पंचायत की मुखिया ज्योति श्रीवास्तव मुखिया पति समाजसेवी रिंकू श्रीवास्तव समिति सदस्य विक्रम साह समाजसेवी निशु पांडेय सहित सैकड़ों श्रद्धालु शामिल थे।

जल शोभायात्रा के दौरान जय बजरंगबली,जय हनुमान की जय के जयकारों से पूरा वातावरण गुंजित रहा।मुखिया ज्योति श्रीवास्तव ने बताया कि धर्म की जय हो, अधर्म का नाश हो प्राणियों में सद्भावना हो तथा विश्व का कल्याण हो इसके निमित्त यह यज्ञ कराया जा रहा है। यज्ञाधीश श्री श्री 108 श्री जितेंद्र दास महाराज ने बताया कि इस कलिकाल में भगवान हनुमान साक्षात प्रकट होने वाले तथा भक्तों का कल्याण करने वाले देवता है। इस त्रिदिवसीय श्री हनुमान प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में पंचांग पूजन 24 जून संध्या 6:00 बजे से वेदी पूजन व मूर्ति का संस्कार 25 जून को तथा 26 जून को पूरे वैदिक मंत्रोच्चारण और विधि विधान से भक्त शिरोमणि हनुमान जी महाराज का प्राण प्रतिष्ठा यज्ञ हवन व पूर्णाहुति होगी।

संध्या में हनुमान आराधना का आयोजन किया जाएगा। बताते चलें कि इस महायज्ञ में नेपाल के कथावाचक गिरी बाबा तथा काशी धाम के जनक शास्त्री यज्ञ आचार्य भक्ति की गंगोत्री प्रवाहित करेंगे। इस श्री हनुमान प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव को लेकर सेनुवरिया पंचायत में भक्ति मय वातावरण बना हुआ है।नेपाल से आए कथावाचक गिरी बाबा ने बताया कि हनुमान जी महाराज भक्तों का कल्याण करने वाले शत्रुओं का नाश करने वाले तथा दुखों का अंत करने वाले देवता है। कलयुग में हनुमान जी महाराज के पूजन से समस्त पापों का खात्मा होता है। गौरतलब हो कि प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में मूर्ति दान संजय श्रीवास्तव उर्फ दीपू बाबू टाइल्स दान करने वाले समिति सदस्य विक्रम साह है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here