तिरवाह विकास संघर्ष समिति की हुई बैठक सम्पन्न। अभिलंब सिकरहना नदी पर ठोकर और बांध मरम्मत कराए सरकार।

0
853

मझौलिया से राजू शर्मा की रिपोर्ट….

बेतिया/मझौलिया। मझौलिया प्रखंड के हरपुरवा गढ़वा पंचायत स्थित पीपरपाती पुल की समीप तिरवाह विकास संघर्ष समिति के बैनर तले सिकरहना नदी में क्षतिग्रस्त बांध व ठोकर लगाने को लेकर संघर्ष समिति के सदस्यों की एक बैठक हुई जिसकी अध्यक्षता तिरवाह विकास संघर्ष समिति के सचिव जिला पार्षद मोहम्मद जियाउद्दीन की अध्यक्षता में रविवार को संपन्न हुई । इस बैठक में सर्वसम्मति से 4 प्रस्ताव पारित किए गए।तिरवाह विकास संघर्ष समिति के सचिव सह जिला पार्षद मोहम्मद जियाउद्दीन ने कहा कि बैठक में सिकराहना नदी में क्षतिग्रस्त बांधों की मरम्मत तथा नदी में ठोकर लगाने को लेकर प्रस्ताव पारित किया गया।

जिसमें सेमरा घाट, बथना, बढ़ईया टोला ,डुमरी आदि कई जगहों पर ठोकर लगाने को लेकर अंचलाधिकारी व जिलाधिकारी को तिरवाह विकास संघर्ष समिति के सदस्यों द्वारा एक एक ज्ञापन दी जाएगी । पूर्व मुखिया प्रवीण कुमार उर्फ सोनू राय ने कहां की तिरवाह क्षेत्र में बरसात के दिनों में सिकरहना नदी का जल स्तर बढ़ जाता है। बांध टूट जाते हैं। जिसके चलते क्षेत्र में जबरदस्त बाढ़ आने के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त हो जाती है। सरपंच पति फिरोज साह ने कहा कि सरकार तिरवाह वासियों का दुख दर्द समझे। यह क्षेत्र भी बिहार का हिस्सा है। सिकरहना नदी पर अभिलंब ठोकर निर्माण क्षतिग्रस्त बांध निर्माण कार्य शुरू करावे अन्यथा समूचा तिरवाह इलाका आंदोलन करने पर बाध्य होगा। जिसकी सारी जवाबदेही प्रशासन और सरकार की होगी। मुखिया पुत्र उपेंद्र कुमार साह ने सरकार से मांग किया कि बाढ़ की विभीषिका से बचाने के लिए सरकार हम लोगों की मांगों को अविलंब पूरा करें। बाढ़ के तांडव से होने वाले जानमाल की क्षति से बचाने के लिए जल्द ही ठोस कदम उठाया जाए।इस बैठक में पूर्व प्रधानाध्यापक सह तिरवाह विकास संघर्ष समिति के सदस्य अब्दुल बारी सरपंच हारून,पूर्व उपमुखिया हसमत अली, मुखिया पुत्र उपेंद्र कुमार, शेख अहमद, पूर्व समिति सदस्य पति महमद वसीम , शेख अकरम, शेख रिजवान, सरपंच पति राजेश कुमार तिवारी आदि बैठक में शामिल हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here