बेतिया जिलाधिकारी ने नौतन एवं बैरिया प्रखंड का किया भ्रमण, विकास योजनाओं एवं बांधों का लिया जायजा।

0
561

बेतिया। जिलाधिकारी, श्री दिनेश कुमार राय द्वारा आज नौतन एवं बैरिया प्रखंड का भ्रमण किया गया तथा विकास कार्यों का जायजा लिया गया। अधिकारियों एवं ग्रामीणों से पूर्व में आयी बाढ़, संभावित बाढ़ एवं कटाव आदि को लेकर जानकारी ली गयी। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी अधिकारी अलर्ट होकर कार्य करेंगे। संभावित बाढ़ से निपटने हेतु आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा जारी एसओपी का शत-प्रतिशत अनुपालन करें तथा ससमय सभी तैयारी पूर्ण कर लें। संवेदनशील एवं अतिसंवेदनशील स्थलों पर पर्याप्त मात्रा में सुरक्षात्मक सामग्री को एकत्र कर लें। जिलाधिकारी द्वारा कार्यपालक अभियंता, जल संसाधन विभाग को निर्देश दिया गया कि फ्लड फाईटिंग की सभी तैयारियां ससमय कर लें। तटबंधों का नियमित रूप से निरीक्षण कराते रहे तथा आवश्यकतानुसार सुरक्षात्मक कार्य करें। पीओ, मनरेगा को निर्देश दिया गया कि बाढ़ आश्रय स्थल तक सुगमतापूर्वक आने-जाने हेतु एप्रोच पथ का निर्माण शीघ्र कराने की व्यवस्था करें। भ्रमण के क्रम में जिलाधिकारी द्वारा मंगलपुर बांध का भी जायजा लिया गया। इस दौरान जिलाधिकारी ने स्थानीय ग्रामीणों से बातचीत की तथा पूर्व के बाढ़, कटाव से संबंधित जानकारी ली। ग्रामीणों द्वारा अपने अनुभवों को साझा किया गया तथा कुछ सुझाव भी दिया गया। जिलाधिकारी ने बैरिया एवं नौतन प्रखंड के प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों से कहा कि नियमित रूप से शनिवारीय जनता दरबार का आयोजन कराना सुनिश्चित किया जाय। जनता दरबार में संबंधित अंचलाधिकारी एवं थानाध्यक्ष की उपस्थिति हर हाल में होनी चाहिए। जनता दरबार का प्रभावी रूप से संचालन हो ताकि भूमि विवाद तथा अन्य विवादों का ससमय पारदर्शी तरीके से निष्पादन किया जा सके।उन्होंने निर्देश दिया कि नियमित रूप से प्रखंडस्त पर साप्ताहिक बैठक का आयोजन किया जाय। बैठक में विकासात्मक एवं कल्याणकारी योजनाओं, कार्यक्रमों की अद्यतन स्थिति, लंबित मामलों की समीक्षा करें। लंबित मामलों को तत्परतापूर्वक निष्पादित कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिया कि प्रखंडस्तर के सभी अधिकारी आपस में समन्वय स्थापित कर जनता के हितों के लिए कार्य करेंगे। प्रखंड एवं अंचल कार्यालयों में साफ-सफाई, पेयजल, शौचालय आदि की समुचित व्यवस्था करेंगे। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि प्रखंडों में संचालित आंगनबाड़ी केन्द्र, विद्यालय, जन वितरण प्रणाली दुकान, पीएचसी का औचक निरीक्षण करें तथा क्रियान्वित योजनाओं का स्थलीय जांच भी करें। उन्होंने निर्देश दिया कि विद्यालयों में मिड डे मिल योजनान्तर्गत बच्चों को दिये जाने वाला भोजन गुणवतापूर्ण होना चाहिए। बच्चों को खाना देने से पहले अच्छे तरह से जांच करके संतुष्ट हो लें।उन्होंने निर्देश दिया कि अंचलाधिकारी म्यूटेशन के मामलों को प्राथमिकता के साथ नियमानुकूल निष्पादित करेंगे।लंबित म्यूटेशन के मामलों को कैम्प मोड में निष्पादित कराना सुनिश्चित करेंगे। आरटपीएस काउंटर का संचालन अच्छे तरीके से करें। आरटीपीएस काउंटर पर प्राप्त आवेदनों को निर्धारित समयावधि में निष्पादित करायें। कार्य में लापरवाही को लेकर सीडीपीओ, बैरिया को शोकॉज करने तथा अगले आदेश तक वेतन स्थगित करने का आदेश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया। वहीं बीपीआरओ, बैरिया को सख्त हिदायद दिया गया कि नल-जल योजनान्तर्गत सभी योजनाएं क्रियाशील होनी चाहिए। किसी कारणवश अवरूद्ध नल-जल योजना को अविलंब क्रियाशील कराना सुनिश्चित करेंगे। इस अवसर पर उप विकास आयुक्त, श्री अनिल कुमार, एएसडीएम, श्री अनिल कुमार, निदेशक, डीआरडीए, श्री सुजीत बरनवाल, विशेष कार्य पदाधिकारी, श्री सुजीत कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here