बेतिया जिलाधिकारी द्वारा की गयी मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना के अपूर्ण/अक्रियाशील योजनाओं की गहन समीक्षा।

0
581

बेतिया। मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना के अपूर्ण/अक्रियाशील योजनाओं को चालू कराने के निमित आज एक महत्वपूर्ण बैठक जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार की अध्यक्षता में सम्पन्न हुयी। जिलाधिकारी द्वारा एक-एक अपूर्ण तथा अक्रियाशील योजनाओं, इंस्पेक्शन रिपोर्ट आदि की गहन समीक्षा की गयी। जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना अत्यंत ही महत्वाकांक्षी योजना है। इस योजना के क्रियान्वयन में लापरवाही, शिथिलता एवं कोताही बरतने वालों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी। समीक्षा के क्रम में जिला पंचायत राज पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि बगहा प्रखंड अंतर्गत 07, बैरिया प्रखंड अंतर्गत 08, भितहां प्रखंड अंतर्गत 02, चनपटिया प्रखंड अंतर्गत 11, गौनहा प्रखंड अंतर्गत 08, योगापट्टी प्रखंड अंतर्गत 06, लौरिया प्रखंड अंतर्गत 15, मैनाटांड़ प्रखंड अंतर्गत 02, मझौलिया प्रखंड अंतर्गत 18, नौतन प्रखंड अंतर्गत 08, पिपरासी प्रखंड प्रखंड अंतर्गत 12, सिकटा प्रखंड अंतर्गत 01, ठकराहां प्रखंड अंतर्गत 01, सिधाव प्रखंड अंतर्गत 08, रामनगर प्रखंड प्रखंड अंतर्गत 05, मधुबनी प्रखंड अंतर्गत 05 तथा नरकटियागंज प्रखंड अंतर्गत 18 योजनाएं अक्रियाशील है। जिलाधिकारी द्वारा सख्त निर्देश दिया गया कि अभियान चलाकर एक सप्ताह के अंदर सभी अक्रियाशील योजनाओं को क्रियाशील कराना सुनिश्चित किया जाय। एक भी योजना अक्रियाशील नहीं रहना चाहिए। सभी लाभुकों को ससमय पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित हो, इसका अनुपालन दृढ़ता के साथ कराना सुनिश्चित किया जाय। इसके साथ ही अपूर्ण योजनाओं को अविलंब पूर्ण कराना सुनिश्चित किया जाय। समीक्षा के क्रम में बताया गया कि राशि निकासी के बावजूद कुछ जगहों पर नल-जल योजनाएं अपूर्ण हैं। जिलाधिकारी द्वारा इसे गंभीरता से लेते हुए निर्देश दिया गया कि राशि निकासी करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी जाय। सर्टिफिकेट केस करते हुए राशि की वसूली की जाय। उन्होंने कहा कि राशि निकासी करने के उपरांत कार्य अपूर्ण रखना बेहद गंभीर मामला है। ऐसे व्यक्तियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाय। बारंबार निर्देश के बावजूद अबतक नल-जल योजनाएं अक्रियाशील पाये जाने पर सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी/प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी को शोकॉज करने का निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया। इसके साथ ही कार्य में लापरवाही को लेकर प्रखंड विकास पदाधिकारी, नरकटियागंज को शोकॉज सहित एक दिन का वेतन अवरूद्ध करने का निर्देश भी दिया गया। मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना में बेहतर प्रदर्शन करने वाले प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी, बगहा-01 को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित करने का निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया। उन्होंने कहा कि नल-जल योजना में उत्कृष्ट कार्य करने वाले प्रखंड विकास पदाधिकारी, प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी सहित अन्य कर्मियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जायेगा। साथ ही गड़बड़ी में शामिल होने पर कड़ी कार्रवाई भी की जायेगी।जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि प्रत्येक माह में दो बार 01 एवं 15 तारीख को पंचायतों में संचालित नल-जल योजनाओं के फंक्शनालिटी की जांच अनिवार्य रूप से कराना सुनिश्चित किया जाय। इस दौरान अक्रियाशील योजनाओं को त्वरित गति से ठीक कराते हुए पेयजल आपूर्ति सुचारू करना सुनिश्चित किया जाय। इस अवसर पर उप विकास आयुक्त, श्री अनिल कुमार, अपर समाहर्ता, श्री राजीव कुमार सिंह, जिला पंचायत राज पदाधिकारी, श्री मनीष कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। साथ ही जिले के सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here