पूर्वी चंपारण जिले में 40 लाख लोगों को अब तक खिलाई गई सर्वजन दवा।

0
427

बिहार/मोतिहारी। फाइलेरिया जैसे गम्भीर रोग  से बचाव को लेकर जिले में एमडीए अभियान का मॉपअप राउंड चलाया जा रहा है। इसके तहत जिले में 10 फरवरी से अभियान चलाया जा रहा है, जिले के 23 प्रखंडों में 2163 दलों के द्वारा 49 लाख 38 हज़ार 4 सौ 32 लोगों को डीईसी एवं अल्बेंडाजोल की दवा खिलाने का लक्ष्य रखा गया था। जिसमें 24 फरवरी तक के आंकड़े के अनुसार जिले में 39,81,750 लोगों को यानि 68.53 प्रतिशत लोगों को दवा खिलाई जा चुकी है। फाइलेरिया से बचाव को लेकर जन जागरूकता के साथ जीविका कार्यालय मोतिहारी के डीपीएम  गणेश पासवान के साथ ही 40 अन्य कर्मियों को  वीडीसीओ सत्यनारायण उराँव, पीसीआई के जिला प्रतिनिधि मनोज कुमार के सहयोग से दवा खिलाई गई। वहीं एसएसबी कैम्प आदापुर में स्वास्थ्य कर्मियों व केयर प्रतिनिधि पप्पू कुमार के सहयोग से 70 जवानों को अल्बेंडाजोल व डीईसी की गोली खिलाई गई। वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ शरत चँद्र शर्मा ने बताया कि आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका और वॉलेंटियर क्षेत्र में जाकर लोगों को गोली खिलाने का काम कर रहे हैं। केयर   डीटीएल स्मिता सिंह, व डीपीओ मुकेश कुमार ने बताया कि- दो वर्ष अधिक उम्र के लोगों को अल्बेंडाजोल और डीईसी की गोली खिलाई जा रही है। दो से पांच साल तक के लोगों को अल्बेंडाजोल की एक और डीईसी की एक गोली खिलाई जा रही है। छह से 14 साल तक के लोगों को अल्बेंडाजोल की एक और डीईसी की दो गोली खिलाई जा रही है। 15 साल या इससे ऊपर के लोगों को अल्बेंडाजोल की एक और डीईसी की तीन गोली खिलाई जा रही है। इसके अलावा दो साल से कम उम्र के बच्चे, गंभीर रूप से बीमार और गर्भवती महिलाओं को दवा नहीं खिलाई जा रही है। साथ ही इस बात का ध्यान रखा जा रहा है कि, खाली पेट दवा नहीं खिलानी है। उन्होंने बताया कि फाइलेरिया एक गंभीर बीमारी है, जो क्यूलेक्स मच्छर के काटने से होता है। इसका प्रकोप बढ़ जाने के बाद कोई पर्याप्त इलाज संभव नहीं है। इससे बचाव का सबसे बेहतर उपाय एमडीए राउण्ड के दौरान सर्वजन दवा का सेवन करना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here