जिला के 72 पंचायतों में कार्यान्वित योजनाओं/कार्यक्रमों की करायी गयी औचक जाँच।

0
785

बेतिया। मुख्य सचिव, बिहार एवं प्रभारी जिलाधिकारी, श्री अनिल कुमार के निर्देश के आलोक में जिलान्तर्गत पंचायतों में कार्यान्वित विभिन्न योजनाओं/कार्यक्रमों की लगातार औचक जांच करायी जा रही है तथा समस्याओं को दूर किया जा रहा है। इसी क्रम में आज जिले के 72 पंचायतों में कार्यान्वित योजनाओं/कार्यक्रमों की औचक जाँच वरीय अधिकारियों से करायी गयी। जिन पंचायतों में औचक जांच करायी गयी, उनमें बैरिया, सुगौली, बीबी बनकटवा, बनवरिया, भितहां, बकुली पंचगांवा, पतिलार, शिवराजपुर, झखरा, सरिसवा, पिपरा नौरंगिया, धुमनगर, मेहुड़ा, बड़गांव, बहुअरवा, पैकवलिया मर्यादपुर, परसा बनचहरी, मुराडीह, डुमरी भगड़वा, बहुअरवा, कटैया, बेलवा लखनपुर, धोबनी, सिसवनिया, मनवा परसी, धोकराहां, दक्षिणी घोघा, उतरी घोघा, बगही पुरैना, नवलपुर, सिसवा बैरागी, भवानीपुर, दोनवार, बासोपट्टी, दक्षिणी पटजिरवा, चमुआ, सलहा बरिअरवा, जैतिया, जोगिया, लोहियरिया, कुड़वा मठिया, विशम्भरपुर, धोकराहां, बैजुआ, सूर्यपुर, पकड़िया, बरदाहां, ढढवा, चौमुखा, रानीपुर रमपुरवा, महनाकुली, बिनवलिया, हरदीटेढ़ा, मठिया, दनियाल परसौना, सकरौल, बसठा, माधोपुर, सिकटा, सिसवा बसंतपुर, टेसरहिया बथुवरिया, हरनाटांड़, सोनखर, गुदगुदी, हथुअहवा, मानपुर, मोतिपुर, धुमनगर, तमकुहा, खोतहवा, बलुआ एवं मंझरिया शामिल हैं। जांच अधिकारियों में श्री राजीव कुमार, श्रीमती नीना सिंह, श्री बालेश्वर प्रसाद, श्रीमती सुधा रानी, श्री अशोक कुमार तिवारी, श्री संजय कुमार, श्री कुमार प्रशांत, श्री नीरज कुमार, श्री अभय कुमार, श्री ब्रजभूषण कुमार, श्री गणेश राम, श्री किशोर आनंद, श्री लालदेव रजक, श्री अनंत कुमार, श्री अंकित राज, श्री आमिर सुहैल, श्री चन्द्रभूषण कुमार, श्री अनिल कुमार, श्री योधन प्रसाद सिंह, श्री मिथिलेश कुमार, श्री दीपेन्द्र कुमार, श्री संजीव कुमार, श्री चंदन कुमार, श्री सुनील कुमार, श्री सईद अहमद, श्री विष्णु पासवान, श्री सुबोध चौधरी, श्री अनवर हुसैन, श्री मुकुन्द प्रसाद आदि शामिल रहे। जांच अधिकारियों द्वारा पंचायतों में उर्वरक प्रतिष्ठान/दुकान की औचक जांच सहित हर घर नल का जल, घर तक पक्की नाली गली, प्राथमिक/माध्यमिक/हाईस्कूल, एससी/एसटी/ओबीसी/अल्पसंख्यक छात्रावास, स्वास्थ्य सुविधा, आंगनबाड़ी केन्द्र, सामाजिक सुरक्षा पेंशन वितरण, पीडीएस, सड़क, अधिप्राप्ति केन्द्र, मनरेगा, आवास योजना, पंचायत सरकार भवन, दाखिल-खारिज, जमाबंदी, लगान रसीद, बंदोबस्त, बंदोबस्त अभिलेखों की डाटा इन्ट्री आदि की गहनता से निरीक्षण किया गया। प्रभारी जिलाधिकारी द्वारा जांच अधिकारियों को निदेश दिया गया था कि सभी निरीक्षी पदाधिकारी आवंटित पंचायत अंतर्गत उर्वरक के दुकान/प्रतिष्ठान का अनिवार्य रूप से निरीक्षण करेंगे। हर घर नल का जल के तहत योजना की स्थिति एवं उसका रख-रखाव, अंतिम छोर पर अवस्थित घरों तक जलापूर्ति का निरीक्षण, अतिरिक्त पानी या पानी के रिसाव का निरीक्षण सहित ग्रामीणों से फीडबैक एवं फोटोग्राफ्स प्राप्त करेंगे। घर तक पक्की नाली गली योजना की स्थिति एवं उसका रख-रखाव, नाला के अंतिम छोर तक नाली का निर्माण एवं सोक पीट की स्थिति आदि का गहन निरीक्षण करेंगे। पंचायत में संचालित प्राथमिक/माध्यमिक/हाईस्कूल में छात्रों की उपस्थिति, शिक्षकों की उपस्थिति, भवन की स्थिति, लड़कों तथा लड़कियों के लिए शौचालय, पेयजल, बिजली, वर्दी, स्कूल की किताबें, मुख्यमंत्री किशोरी स्वास्थ्य योजना, साईकिल, पुस्तकालय, कम्प्यूटर कक्ष, प्रयोगशाला, मध्याह्न भोजन, सभी सेवाओं की गुणवता का निरीक्षण करेंगे। साथ ही निरीक्षी पदाधिकारी संचालित कक्षा में बैठकर देखेंगे कि शिक्षक कैसे पढ़ाते हैं और छात्र कैसे पढ़ रहे हैं और शिक्षण की गुणवता का आंकलन करेंगे। स्वास्थ्य सुविधा के तहत चिकित्सकों, पारा मेडिकल स्टॉफ, आशा वर्कर की उपस्थिति एवं दवाईयां, उपकरण, बिस्तर, शौचालय, भवन की स्थिति, बिजली कनेक्शन, जलापूर्ति कनेक्शन आदि का सूक्ष्मता से निरीक्षण करेंगे तथा आमजन की प्रतिक्रिया प्राप्त करेंगे। इसके साथ ही पंचायतों में कार्यान्वित अन्य योजनाओं एवं कार्यक्रमों की दिशा-निर्देश के अनुरूप गहनता से जांच करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here