पर्यटकों की सुविधा के लिए मार्गीय सुविधाओं को कराया जायेगा विकसित:- प्रभारी जिलाधिकारी

0
590

बेतिया। जिले के चिन्हित पर्यटन परिपथों पर पर्यटकों की सुविधा हेतु मार्गीय सुविधा आदि के उन्नयन एवं मानकीकरण हेतु प्रोत्साहन योजना 2022 क्रियाशील है। इसके तहत चिन्हित पर्यटन परिपथों पर मार्गीय सुविधा को विकसित किया जाना है। इस हेतु इच्छुक व्यक्ति दिनांक-04.01.2023 तक आवेदन समर्पित कर सकते हैं। मार्गीय सुविधा को विकसित करने हेतु आवेदन प्राप्त करने, व्यापक प्रचार-प्रसार करने, तथा योजनान्तर्गत प्राप्त आवेदन के भूमि सत्यापन की अद्यतन स्थिति की समीक्षा आज प्रभारी जिलाधिकारी, श्री अनिल कुमार द्वारा की गयी। इस अवसर पर अपर समाहर्ता, श्री राजीव कुमार सिंह, वरीय उप समाहर्ता, श्री रवि प्रकाश, सुश्री सुभाषिणी प्रसाद सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। प्रभारी जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि उक्त योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार कराना सुनिश्चित किया जाय। सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉर्मों पर इसे प्रसारित कराया जाय ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसमें अभिरूचि लेते हुए मार्गीय सुविधा को विकसित कराने में अपना योगदान दे सकें। समीक्षा के क्रम में वरीय उप समाहर्ता द्वारा बताया गया कि प्रीमियम मार्गीय सुविधा हेतु 1.5 एकड़ भूमि तथा 15000 वर्गफुट अनिवार्य निर्मित क्षेत्र की आवश्यकता है। सरकार द्वारा इस हेतु 50 लाख रूपये या स्वीकृत राशि का अधिकतम प्रतिशत अनुदान देने का प्रावधान है। स्टैंडर्ड मार्गीय सुविधा हेतु 1 एकड़ भूमि, 10000 वर्गफुट अनिवार्य निर्मित क्षेत्र की आवश्यकता है। सरकार द्वारा इस हेतु 35 लाख रूपये या स्वीकृत राशि का अधिकतम 50 प्रतिशत अनुदान देने का प्रावधान है। बेसिक मार्गीय सुविधा के लिए 7500 वर्गफुट भूमि तथा 2800 वर्गफुट अनिवार्य निर्मित क्षेत्र की आवश्यकता है। सरकार द्वारा इस हेतु 10 लाख रूपये या स्वीकृत राशि का अधिकतम 50 प्रतिशत अनुदान देने का प्रावधान है। इसी तरह मौजूदा (ढ़ाबों, फूड जॉंइंटस और पेट्रोल पम्पों) का उन्नयन और नवीनीकरण हेतु 0.5 एकड़ भूमि की आवश्यकता है। सरकार द्वारा इस हेतु 20 लाख रूपये या स्वीकृत राशि का अधिकतम 50 प्रतिशत अनुदान देने का प्रावधान है। आवेदनकर्ता चयनित मार्गों के अनुसार उपरोक्त में से किसी भी एक मॉडल के लिए आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि चिन्हित पर्यटन परिपथों पर मार्गीय सुविधा विकसित करने के लिए आवेदन आमंत्रण की अवधि 07 दिसंबर से बढ़ाकर 04 जनवरी 2023 कर दी गयी है। अधिक जानकारी के लिए www.tourism.bihar.gov.in पर विजिट किया जा सकता है। आवेदक विभागीय वेबसाइट www.tourism.bihar.gov.in के What’s New Tab से आवेदन पत्र एवं अन्य दस्तावेज डाउनलोड कर लें। उसके बाद आवेदन शुल्क के रूप में निदेशक, पर्यटक निदेशालय, पटना, बिहार के नाम से 5000.00 (पांच हजार) रूपये का डिमांड ड्राफ्ट बनवाएं। पूर्ण रूप से भरे हुए आवेदन तथा चेकलिस्ट के अनुसार दस्तावेज संलग्न कर निर्धारित तिथि तक सचिव, पर्यटन विभाग को आवेदन समर्पित करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here