बच्चों के साथ शिक्षा विभाग कर रही है सौतेला व्यवहार, विद्यालय में बच्चों को बैठने के लिए ब्रेच डेक्स नहीं।

0
453

भैरोगंज से राजेश कुमार की रिपोर्ट

बगहा/भैरोगंज। बगहा एक प्रखंड के अंतर्गत उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय लक्ष्मीपुर में 850 बच्चों को बैठने के लिए मात्र बीस ब्रेच, डेक्स विद्यालय में हैं। ब्रेच, डेक्स की कमी के कारण बच्चों के बीच आपसी मतभेद बना रहता हैं। शिक्षा विभाग के द्वारा बराबर बच्चों को गुणवत्ता शिक्षा एवं एक समान सभी बच्चों की देखने की बात कहीं जाती है। तो दूसरे तरफ विद्यालय में बच्चों को पढ़ाने के लिए कहीं शिक्षक ही नहीं। तो कहीं बच्चों को बैठने के लिए विद्यालय में संसाधन नहीं तो इस स्थिति में बच्चों को गुणवत्ता शिक्षा एवं समानता का अधिकार कैसे मिलेगी। शुक्रवार के दिन लक्ष्मीपुर माध्यमिक विद्यालय में कक्षा 6 से लेकर 8 तक के बच्चों के बीच बैठने के लिए ब्रेच डेक्स नहीं होने के कारण कुछ बच्चे दरी पर बैठकर शिक्षा ग्रहण कर रहे थे कुछ छात्रों का कहना था कि शिक्षा विभाग एवं विद्यालय के शिक्षकों के द्वारा हम लोग के साथ सौतेला व्यवहार किया जाता हैं एक ही कक्षा के कुछ छात्र ब्रेच, डेक्स पर बैठते हैं तो कुछ बच्चे जमीन पर दरी बिछा कर बैठते हैं दरी पर बैठकर पढ़ने वाले बच्चे अपने आप में गलानी महसूस कर रहे थे। विद्यालय के प्रधान शिक्षक प्रिती कुमारी ने बताया कि इस विद्यालय में एक से लेकर दस तक के बच्चों की कुल नामांकन 850 है। बच्चों को बैठने के लिए डेक्स ब्रेच नहीं है जिसके कारण कुछ बच्चों को दरी पर बैठाकर पठन-पाठन का कार्य किया जाता हैं ।विद्यालय में वरिय पदाधिकारी आते हैं उनसे कहने पर सिर्फ आश्वासन ही देख कर रह जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here