जिला में यूथ के लिए चल रही योजनाओं का कंजर्वेशन जरूरी:- उप विकास आयुक्त।

0
283

बेतिया। उप विकास आयुक्त, श्री अनिल कुमार द्वारा आज जिला निबंधन एवं परामर्श केन्द्र (डीआरसीसी) का औचक जाँच किया गया। पूर्व में दिये गये निर्देशों के अनुपालन पर उनके द्वारा संतोष प्रकट किया गया। इसके साथ ही प्रबंधक, डीआरसीसी को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया। डीआरसीसी द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि प्रगति अच्छी है, इसे और बेहतर करने की आवश्यकता है। जिले के योग्य छात्र-छात्राओं को संचालित योजनाओं का ससमय लाभ मिले, इसे हर हाल में सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने कहा कि बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना, मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना, कुशल युवा कार्यक्रम अत्यंत ही महत्वाकांक्षी है। इसका क्रियान्वयन सही तरीके से तत्परतापूर्वक किया जाय। उन्होंने कहा कि यूथ के लिए चल रही योजनाओं का कंजर्वेशन जरूरी है। इस हेतु कारगर कार्रवाई की जाय ताकि अधिक से अधिक छात्र-छात्राएं इससे लाभान्वित हो सके। योग्य छात्र-छात्राओं को कॉल कर स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड का लाभ लेने को कहा जाय। इसके तहत विभाग द्वारा निर्धारित टारगेट को ससमय एचिव किया जाय। उन्होंने कहा कि योजनाओं का लाभ लेकर कितने छात्र-छात्राओं ने अपना कैरियर संवारा है, इसका एक डाटा बेस तैयार किया जाय। लाभान्वित हुए बच्चों की ट्रैकिंग करें कि वे वर्तमान में किस प्रकार का जॉब कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा डाटाबेस अन्य छात्र-छात्राओं के लिए प्रेरणा बन सकता है तथा वे भी डीआरसीसी द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं का लाभ लेकर अपना कैरियर एवं भविष्य बेहतर बना सकते हैं।

उन्होंने निर्देश दिया कि जिले में संचालित कुल-52 केवाईपी सेन्टर की रेगुलर मॉनिटरिंग अतिआवश्यक है। केवाईपी सेन्टर की गुणवत्ता में अपेक्षित सुधार अत्यंत ही आवश्यक है। केवाईपी सेन्टर का संचालन विभागीय दिशा-निर्देर्शों का शत-प्रतिशत अनुपालन करते हुए सुनिश्चित किया जाय। केवाईपी सेन्टर के माध्यम से बच्चों को अच्छे तरीके से प्रशिक्षित कराया जाय ताकि उनका कौशल विकास बेहतर तरीके से हो सके। इसके पश्चात डीआरसीसी में ही ज़िला कौशल विकास समिति की बैठक उप विकास आयुक्त की अध्यक्षता में सम्पन्न हुयी। उनके द्वारा कौशल संबंधी गतिविधियों एवं विभागों के कार्यकलाप की गहन समीक्षा की गई । नगर निगम की समीक्षा करते हुए उप विकास आयुक्त द्वारा बेस्ट मैनेजमेन्ट के संबंध में गहन समीक्षोपरांत कौशल प्रशिक्षण देने का निर्देश दिया गया। आर-सेटी को मोबाइल रिपेयरिंग आदि से संबंधित कार्यक्रम शीघ्र आरंभ करने को कहा गया। युवाओं की काउंसलिंग एवं अन्य आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु वन स्टॉप ऐप के विकास का भी निर्देश संबंधित पदाधिकारियों को दिया गया।
इसके उपरांत उप विकास आयुक्त द्वारा स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड एवं कुशल युवा कार्यक्रम से लाभान्वित बच्चों को क्रेडिट कार्ड एवं केवाईपी सर्टिफिकेट प्रदान करते हुए उन्हें इन योजनाओं का लाभ उठाते हुए और अच्छे कोर्स करने एवं रोज़गार हेतु प्रयास करने का सुझाव दिया गया । इस अवसर पर नगर आयुक्त, बेतिया, जिला नियोजन पदाधिकारी, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी, प्रबंधक, डीआरसीसी, श्रमाधीक्षक, जिला बागवानी पदाधिकारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here