मझौलिया में जाँच दल पहुचते ही क्लीनिक छोड़ भाग गए झोलाछाप डॉक्टर, धड़ाधड़ बंद होने लगी अल्ट्रासाउंड, अवैध नर्सिंग होम, जांच घरों सहित दवा दुकान की सटर।

0
1415

मझौलिया से राजू शर्मा की रिपोर्ट….

बेतिया/मझौलिया। मझौलिया में सिविल सर्जन पश्चिम चंपारण के निर्देश पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थापित प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ ओमप्रकाश ने विभिन्न अल्ट्रासाउंड ,जांच घर एवं निजी क्लिनिको का जांच किया। उन्होंने बताया कि जिला कार्यालय को यह शिकायत प्राप्त हुआ था कि प्रखंड क्षेत्र में काफी मात्रा में बगैर अनुमति के अवैध रूप से निजी क्लिनिक जांच घर तथा अल्ट्रासाउंड संचालित किया जा रहा है तथा मरीजों का शोषण किया जा रहा है।जिसके आलोक में सिविल सर्जन के निर्देशित पत्र के आलोक में एक जांच टीम गठित कर स्थानीय पुलिस के सहयोग से 2 अल्ट्रासाउंड एवं 1 निजी क्लिनिक को सील किया गया।

उन्होंने बताया कि सील किए गए अल्ट्रासाउंड घर में अपोलो अल्ट्रासाउंड और इंडियन अल्ट्रासाउंड तथा आसमा हेल्थ केयर सेंटर शामिल है। शेष भनक पाते ही अल्ट्रासाउंड निजी क्लिनिक तथा जांच घर के संचालक क्लीनिक छोड़ भाग खड़े हुए।गौरतलब हो कि मझौलिया में जांच टीम की छापामार कार्रवाई से अधिकांश झोलाछाप डॉक्टर क्लीनिक का शटर गिराकर भाग खड़े हुए। प्रभारी चिकित्सक डॉक्टर ओम प्रकाश ने बताया कि संबंधित संचालक एवं चिकित्सक अपना अपना प्रमाण पत्र अनुज्ञप्ति 24 घंटे के अंदर पीएचसी कार्यालय को उपलब्ध कराएं अन्यथा उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

विदित हो कि प्रखंड क्षेत्र में बड़े-बड़े बैनर पोस्टर और अपने आप को डिग्रियों से सुसज्जित करने वाले हेल्थ केयर सेंटर अल्ट्रासाउंड जांच घर आदि को जब इसकी भनक लगी तो धड़ाधड़ क्लीनिक का शटर गिराकर भाग खड़े हुए जो स्पष्ट दर्शाता है कि उनका क्लीनिक जांच घर अल्ट्रासाउंड निसंदेह अवैध ढंग से संचालित हो रहा है। जांच टीमें में स्वास्थ्य प्रबंधक शकील अहमद, विनय कुमार तिवारी, संतोष कुमार प्रशिक्षु दारोगा पूजा कुमारी समेत महिला एवं पुरुष आरक्षी बल शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here